Movie Review : ‘जुड़वा 2’

एक ऐसा दौर था जब डेविड धवन की फ़िल्में बॉक्स ऑफिस पर सोना उगल रही थी। डेविड धवन और सलमान यह सौ प्रतिशत का पैमाना फ़िल्म की शुरुआत से ही मान लिया जाता था। यह फ़िल्में सिर्फ मनोरंजन की गैरंटी होती थी, इसमें किसी भी तरह का सिनेमाई करिश्मा ढूंढना बेईमानी था। मूलतः एडिटर रहे डेविड धवन ने सिनेमा का अपना फार्मूला गढ़ा। लंबे-लंबे मास्टर शॉर्ट्स से भी उन्होंने परहेज नहीं किया।
उन्हें सिर्फ और सिर्फ विश्वास था अपनी स्क्रिप्ट, अपनी कॉमेडी टाइमिंग और अपने पसंदीदा कलाकारों पर, जिसमें अव्वल रहे गोविंदा और सलमान। इन दोनों के साथ डेविड ने फ़िल्म ‘कुली नंबर वन’, ‘बीवी नंबर वन’, ‘जोड़ी नंबर वन’, ‘घरवाली बाहर वाली’, ‘जुड़वा’ जैसी कई सोना उगलने वाली कॉमेडी फ़िल्में बॉक्स ऑफिस को दीं।
अपनी सफलतम फ़िल्म ‘जुड़वा’ की रीमेक ‘जुड़वा 2’ में भी डेविड का जादू बरकरार रहा। सलमान के साथ बनाई ‘जुड़वा’ की जुड़वा फ़िल्म है ‘जुड़वा2’। जैसा डेविड की फ़िल्मों में होता रहा है, दिमाग घर पर रखकर सिनेमा देखने जाइए और हंसते मुस्कुराते बाहर आइए!
अभिनय की अगर बात की जाए तो वरुण धवन ने ‘ABCD 2’, ‘बदलापुर’ जैसी फ़िल्मों में अपने अभिनय का लोहा तो मनवा ही लिया था, इस फिल्म में भी दोनों ही किरदारों में वरुण पूरी तरह सफल नज़र आएं। उनका साथ जैकलीन फर्नांडिस और तापसी पन्नू ने भरपूर निभाया। लंबे समय के बाद राजपाल यादव को पर्दे पर देखना सुखद था। अनुपम खेर, सचिन खेडेकर, प्राची देसाई भी अपनी भूमिकाओं में जंचे हैं।
फ़िल्म की सिनेमेटोग्राफी कमाल की है। डेविड खुद एडिटर रहे हैं, तो ज़ाहिर तौर पर एडिटिंग अच्छी ही होनी थी। ‘जुड़वा’ के दो हिट गाने इस फ़िल्म में भी नए अंदाज में लिए गए हैं, वह वह भी रोचक लगते हैं। कुल मिलाकर ‘जुड़वा 2’ एक पूरी तरह से मनोरंजक फ़िल्म है जिसे आप पूरे परिवार के साथ देख सकते हैं।