MOVIE REVIEW : ‘बादशाहो’

बॉलीवुड फिल्म ‘बादशाहो’ आज रिलीज हो गई है। फिल्म की कहानी राजस्थान की और इमरजेंसी(1975) के दौर पर बेस्ड है। दरअसल देश में इमरजेंसी के हालत होते और ज्यादातर राजा-रजवाड़ों का खजाना जप्त किया जा रहा होता है। इसी बीच जयपुर की महारानी गीतांजलि देवी यानी इलियाना डिक्रूज के महल पर छापा पड़ता है और उनके खजाने को सरकार सील कर देती है क्योंकि उन्होंने बिना ब्यौरा दिए उसे महल में रखा हुआ था। खजाने को ट्रक में भरकर दिल्ली भेजने का काम पुलिस ऑफिसर सहर उर्फ विद्युत जामवाल को सौंपा जाता है। ऐसे में जहां महारानी गीतांजलि अपने खास भवानी सिंह(अजय देवगन) से मिलकर खजाने के बारे में बताती हैं। तो वहीं भवानी महारानी की खास संजना (ईशा गुप्ता), दलिया (इमरान हाशमी), तिकला (संजय मिश्रा) के साथ खजाने को दिल्ली पहुंचने से पहले ही लूटने की कोशिश करते हैं। इस बीच बहुत सारे सीक्रेट्स सामने आते हैं। किरदारों के बीच आपस में प्यार, धोखा, गुस्सा और ढेर सारे ट्विस्ट देखने को मिलते हैं। अब क्या ट्रक दिल्ली पहुंच पाया या फिर उसे रास्ते में ही लूट लिया जाएगा। ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी। फिल्म का डायरैक्शन और सीन्स अच्छे हैं। जैसा कि फिल्म की शूटिंग राजस्थान के हुई ऐसे में यहां के राजमहलों और लोकेशन का बेहतरीन इस्तेमाल किया गया है। फिल्म कहानी कमजोर है इसपर और काम किया जा सकता था। दरअसल ये काफी धीरे-धीरे चलती है जिसे देखकर बोरियत महसूस होती है। ऐसे में आज के युवा वर्ग का इसे ध्यान केन्द्रित कर देखना थोड़ा मुश्किल है। साथ ही काफी कैरेक्टर ऐसे हैं जिनकी और डिटेलिंग की जा सकती थी। बात अगर एक्टिंग की करें तो अजय देवगन और ईशा गुप्ता ने काफी दमदार परफॉर्मेंस दी है। फिल्म में इमरान हाशमी फिल्म में एक अलग अंदाज में दिखे हैं तो वहीं सनी लियोनी के आइटम सॉन्ग ‘ट्रिपी-ट्रिपी’ से उनकी एंट्री काफी बेहतरीन तरीके से हुई है। वहीं ईशा गुप्ता, विद्युत जामवाल और संजय मिश्रा का काम भी अच्छा है। फिल्म का सॉन्ग ‘मेरे रश्के कमर’ पहले की चार्ट बस्टर साबित हो चुका है। वहीं सनी ने अपने आइटम सॉन्ग से फिल्म में चार चांद लगा दिए हैं। साथ ही बैकग्राउंड स्कोर काफी अच्छा है।